प्रेम और सत्य एक ही सिक्के के दो पहलू हैं....मोहनदास कर्मचंद गांधी...........मुझे मित्रता की परिभाषा व्यक्त करने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि मैंने ऐसा मित्र पाया है जो मेरी ख़ामोशी को समझता है

Wednesday, June 23, 2010

बूझो तो जाने - 2 / दीनदयाल शर्मा





बूझो तो जाने - 2  / दीनदयाल शर्मा

बड़े हों या छोटे...पहेलियाँ सबको अच्छी लगती है.... मैं अपनी बनाई यहाँ 15 पहेलियाँ दे रहा हूँ...आप   इन सभी 15  पहेलियों में से कृपया एक या दो पहेली का  अर्थ बताएं...आपके बताये उत्तर  सभी उत्तरदाताओं का ज्ञान बढ़ाएंगे...साथ में रोचकता भी बनी रहेगी...आपके उत्तर की प्रतीक्षा है...आपका शुभेच्छु....दीनदयाल शर्मा 


1.
करो या मरो नारा जिनका,
पहनी हरदम खादी ।
आज़ादी की ख़ातिर जिसने,
अपनी जान गँवा दी ।।

2.
छोटे क़द का बड़ा आदमी,
जीवन सीधा-सादा।
बचपन से ही संघर्षशील था,
उनका अटल इरादा ।।

3.
माँ स्वरूप रानी थी जिनकी,
पिता थे मोतीलाल ।
फूल गुलाब का जिन्हें प्रिय था,
प्यारे बाल गोपाल ।।

4.
अधिकारों का हक़ है जन्मसिद्ध,
लेंगे हम आज़ादी।
जन-जन में यह अलख जगाई
लाल-पाल का साथी।।

5.
विद्यावती माता थी जिनकी,
किशनसिंह पिता किसान ।
वीर भगत भारत माता का,
हँस कर हुआ कुरबान ।।



6.
मंदिर, मस्जिद, गिरजा, गुरुद्वारा
सभी जगह सम्मान यह पाए ।
पतली सी है काया जिसकी,
जलती हुई महक फैलाए ।

7.
अलग - अलग रहती है दोनों
नाम एक सा प्यारा
एक महक फैलाए जग में,
दूजी करे उजियारा ।

8.
दिन-रात मैं चलती रहती,
ना लेती थकने का नाम ।
जब भी पूछो समय बताती,
देती बढ़ने का पैगाम ।

9.
जैसे हो तुम दिखोगे वैसे
मेरे भीतर झाँको,
झट से दे दो उत्तर इसका
खुद को कम ना आँको ।

10.
तमिलनाडु, दक्षिण भारत के
वैज्ञानिक ने किया कमाल ।
अग्नि और पृथ्वी मिसाइल
जिनकी देखो ठोस मिसाल ।



11.
टर्र - टर्र जो टर्राते हैं
जैसे गीत सुनाते,
जब ये जल में तैरा करते
पग पतवार बनाते।

12.
चर-चर करती शोर मचाती
पेड़ों पर चढ़ जाती,
काली पत्तियां तीन पीठ पर
कुतर-कुतर फल खाती।

13.
छोटे तन में गाँठ लगी है
करे जो दिन भर काम,
आपस में जो हिलमिल रहती
नहीं करती आराम।

14.
पानी में ख़ुश रहता हरदम
धीमी जिसकी चाल,
ख़तरा पाकर सिमट जाए झट
बन जाता खुद ढाल।

15.
छत से लटकी मिल जाती है
अठ पग वाली नार,
बुने लार से मलमल जैसे
कपड़े जालीदार।

5 comments:

  1. cool blog, u should go for this website. really assist u to get more traffic.

    ReplyDelete
  2. एक से बढ़कर एक पहेलियाँ..मजेदार .


    ____________________________
    'पाखी की दुनिया' में 'पाखी का लैपटॉप' !

    ReplyDelete
  3. Deen dayal ji agar sabse aap paheliyan bujhwayenge to log aane se dar jayenge aapke blog per.hahaha.. anyways bahut achha laga aaker.paheli fir kabhi boojhenge.

    ReplyDelete
  4. 1. gandhi ji
    2. lala lajpat rai ji
    3. bal gangadhar tilak
    4. nehru ji
    5. bhagat singh ji
    6. agarbatti
    7.
    8. ghadi
    9. aaina
    10. kalam ji
    11. mendhak
    12. gilahri
    13.
    14. kachhuaa
    15. makdi....

    aapne kaha tha 2-3 k uttar dene ko maine 13 k uttar de diye... shyad sahi ho...

    ReplyDelete

हिन्दी में लिखिए